GSblog

gsblog

भारतीय रिजर्व बैंक | Reserve bank of India | RBI

Reserve bank of India (RBI)

RBI भारत का केंद्रीय बैंक है, इसकी स्थापना 1 अप्रैल 1935 को की गई थी। इसकी स्थापना भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम, 1934 के प्रावधानों के अनुसार की गई है। 1949 में RBI का राष्ट्रीयकरण किया गया जिसके बाद यह पूरी तरह भारत सरकार के स्वामित्व में है।

इसका केंद्रीय कार्यालय शुरुआत में कलकत्ता में स्थापित किया गया था। 1937 में इसे स्थायी तौर पर मुंबई में स्थानांतरित कर दिया गया।

RBI का केंद्रीय बोर्ड

इसका काम-काज केंद्रीय निदेशक बोर्ड द्वारा शासित होता है। भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम के अनुसार इस बोर्ड की नियुक्ति या नामन भारत सरकार द्वारा 4 वर्ष के लिए किया जाता है।

संगठन

सरकारी निदेशक– के तौर पर गवर्नर और अधिकतम 4 उप-गवर्नर होते हैं, जो कि पूर्णकालिक सदस्य होते हैं।

वहीं गैर-सरकारी निदेशक स्तर पर सरकार द्वारा नामित व्यक्ति होते हैं जिनमें विभिन्न क्षेत्रों से 10 निदेशक और 2 सरकारी अधिकारी शामिल होते हैं। इसके साथ-साथ 4 स्थानीय बोर्डों से 4 अन्य निदेशक भी शामिल होते हैं।

इसके संगठन में स्थानीय बोर्ड भी आते हैं जोकि मुंबई, चेन्नई, कोलकाता और नई दिल्ली में स्थापित हैं।

RBI की भूमिका एवं कार्य

मौद्रिक प्राधिकारी (Monetary Authority)
  • इस कार्य के अंतर्गत मौद्रिक नीति तैयार करना, उसका कार्यान्वयन करना
  • विकास के उद्देश्यों को ध्यान में रखते हुए मूल्य स्थिरता बनाए रखना। इसकी प्राथमिक जिम्मेदारियाँ हैं।
वित्तीय प्रणाली का विनियामक और पर्यवेक्षक (Regulator and Supervisor of the Financial system)
  • बैंकिंग और वित्तीय प्रणाली के लिए विस्तृत मानदंड निर्धारित करना।
  • इसका उद्देश्य- इस प्रणाली में लोगों का विश्वास बनाए रखना, जमाकर्ताओं के हितों की रक्षा करना और आम जनता को किफायती बैंकिंग उपलब्ध कराना है।
विदेशी मुद्रा का प्रबंधक (Manager of Foreign Exchange)
  • विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम 1999 का प्रबंधन करना।
  • विदेशी व्यापार और भुगतान को सुविधाजनक बनाना
  • विदेशी मुद्रा बाजार का क्रमिक विकास करना
मुद्रा जारीकर्ता (Issuer of Currency)
  • करेंसी जारी करना और उसका विनिमय करना
  • परिचालन योग्य न रहने पर करेंसी और सिक्कों को नष्ट करना
  • आम जनता के लिए अच्छी गुणवत्ता वाले करेंसी नोटों और सिक्कों की पर्याप्त मात्रा उपलब्ध कराना
विकासात्मक भूमिका (Developmental role)

राष्ट्रीय उद्देश्यों को पूरा करने के लिए व्यापक स्तर पर प्रोत्साहन कार्य करना इसका महत्वपूर्ण कार्य है।

सरकार का बैंकर (Banker of the Government)

केंद्र और राज्य सरकारों के लिए व्यापारी बैंक की भूमिका निभाना और बैंकर के तौर पर कार्य करना RBI की अहम जिम्मेदारी मानी जाती है।

बैंकों के लिए बैंकर (Banker to Banks)

यह सभी अनुसूचित बैंकों (Scheduled banks) के खाते रखता है।

RBI की रिपोर्ट्स

वार्षिक रिपोर्ट्स
  • RBI भारत में बैंकिंग की प्रवृति और प्रगति पर रिपोर्ट जारी करता है।
  • मुद्रा और वित्त पर भी वार्षिक रुप से रिपोर्ट जारी की जाती है।
अर्द्ध-वार्षिक रिपोर्ट्स
  • वित्तीय स्थिरता रिपोर्ट
  • विदेशी मुद्रा प्रारक्षित रिपोर्ट
  • मौद्रिक नीति रिपोर्ट
तिमाही रिपोर्ट्स
  • बैंक ऋण वितरण सर्वेक्षण भी RBI के द्वारा जारी किया जाता है।

RBI के प्रतीक चिह्न या मोहर

इसके प्रतीक चिह्न में बाघ व पाम के पेड़ को शामिल किया गया है। इसका उपयोग करेंसी नोटों, चेक और प्रकाशनों पर बैंक के प्रतीक के रुप में किया जाता है।

gsblog

यह ईस्ट इंडिया कंपनी की शेर और पाम के पेड़ की मोहर से प्रेरित है।

साथियों यदि आपको इस लेख से जुड़ा कोई भी सवाल हो तो Comment में जरूर बताएं, और अगर आपको लगता है की इसे और बेहतर किया जा सकता है तो अपने सुझाव देना ना भूलें।
ऐसी ही अन्य जानकारी के लिए GS blog पर आते रहें, तथा इसे और बेहतर बनाने में अपना सहयोग दें।

Organizations Tags:, , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RSS
WhatsApp