GSblog

National Health Authority | राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण | NHA

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (NHA) की स्थापना

  • 2 जनवरी 2019 को राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (NHA) के रुप में पुनर्गठित करके की गई थी।
  • NHA की पूर्ववर्ती संस्था राष्ट्रीय स्वास्थ्य एजेंसी थी।

NHA के उद्देश्य

  • राष्ट्रीय स्तर पर आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PM-JAY) को लागू करना है।
  • इसका संचालन एक शासी निकाय द्वारा किया जाता है जिसकी अध्यक्षता भारत सरकार के केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री करते हैं।

NHA की संरचना

  • इस प्राधिकरण की अध्यक्षता और संचालन का उत्तरदायित्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) का होता है।
  • यह भारत सरकार के सचिव रैंक का अधिकारी और शासी निकाय का पूर्व-कार्यालय सदस्य सचिव (Ex-Office Member Secretary) होता है।

NHA की विशेषताएं

  • योजना को राज्य स्तर पर लागू करने के लिए, राज्य स्वास्थ्य संस्थाओं (SHA) की एक सोसाइटी या ट्रस्ट के रुप में राज्यों द्वारा स्थापना
  • राज्यों में योजना के कार्यान्वयन पर SHA को पूर्ण परिचालन स्वायत्तता दी गई है, जिसमें गैर एसईसीसी (non SECC) लाभार्थी भी शामिल हैं।

NHA के प्रमुख कार्य

  1. PM-JAY के प्रभावी नियंत्रण व जाँच प्रणाली की स्थापना करना इससे जुड़े विभिन्न दिशा-निर्देशों, प्रक्रियाओं आदि का निर्माण करना।
  2. स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के भुगतान के लिए प्रभावी और कुशल प्रक्रिया स्थापित करना।
  3. केंद्रीय मंत्रालयों की योजनाओं के बीच मानकीकरण सुनिश्चित करना।
  4. केंद्र और राज्य सरकारों, अन्य सार्वजनिक और निजी संस्थानों के साथ साझेदारी और सहयोग विकसित करना।
  5. राज्य स्वास्थ्य संस्थाओं के लिए सर्वोच्च निकाय के रुप में कार्य करना जो राज्यों में PM-JAY को लागू करने के लिए स्थापित की गई हैं।
  6. धोखाधड़ी से जुड़ी गतिविधियों और दुरुपयोग की रोकथाम पहचान और नियंत्रण संबंधित कार्य करना।
  7. योजना के बारे में जागरूकता फैलाना
  8. राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ज्ञान साझा करने और सूचना प्रसार सहित नीति संगत अनुसंधान और मूल्यांकन अध्ययनों के संचालन की सुविधा प्रदान करना।
  9. आवश्यक स्वास्थ्य घटकों के साथ अत्याधुनिक स्वास्थ्य सूचना प्रोद्योगिकी संजाल का निर्माण आदि।
Organizations Tags:, , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RSS
WhatsApp