GSblog

gsblog

भारत के इतिहास की महत्वपूर्ण संधियाँ

असुर अली की संधि (1639) ⧴  इस संधि ने मुग़ल साम्राज्य और अहोम साम्राज्य के बीच सीमा की स्थापना की और अहोम को जीतने के लिए मुग़ल के प्रयासों को समाप्त कर दिया।

पुरंदर की संधि (1665) ⧴ यह संधि राजपूत शासक और मुगल साम्राज्य के कमांडर जय सिंह प्रथम और मराठा छत्रपति शिवाजी महाराज के बीच हुई थी। जय सिंह द्वारा पुरंदर किले की घेराबंदी करने के बाद शिवाजी को समझौते पर हस्ताक्षर करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

अलीनगर की संधि (1757) ⧴ यह संधि सिराज-उद-दौला और रॉबर्ट क्लाइव के बीच हुई थी । इससे अंग्रेज कलकत्ता को मजबूत कर सके और ब्रिटिश माल को बिना कर के बंगाल से गुजरने की अनुमति मिली।

इलाहाबाद की संधि (1765) ⧴ यह संधि रॉबर्ट क्लाइव और मुग़ल बादशाह शाह आलम द्वितीय के बीच हुई थी। इससे अंग्रेजों को बंगाल, बिहार और उड़ीसा से मुगल सम्राट की ओर से कर एकत्र करने का अधिकार मिला।

image source google

मद्रास की संधि (1769) ⧴  पहले मैसूर युद्ध को समाप्त करने के लिए अंग्रेजों तथा मैसूर के हैदर अली के बीच यह संधि हुई थी। संधि के तहत, दोनों पक्ष जीते गए क्षेत्रों को वापस करने और तीसरे पक्ष के आक्रमण के मामले में एक दूसरे का समर्थन करने के लिए सहमत हुए|

पुरंदर की संधि (1776) ⧴  यह संधि पहले आंग्ल-मराठा युद्ध के पहले चरण को समाप्त करने के लिए अंग्रेजों और मराठों के बीच हुई थी।

वाडगाँव की संधि  (1779) ⧴ यह संधि पहले आंग्ल-मराठा युद्ध के दूसरे चरण को समाप्त करने के लिए अंग्रेजों और मराठों के बीच हुई थी।

सालबाई की संधि (1782) ⧴  यह संधि प्रथम आंग्ल-मराठा युद्ध को समाप्त करने के लिए अंग्रेजों और मराठों के बीच हुई थी

सेरिंगपटम की संधि (1792) ⧴ यह संधि अंग्रेजों (लॉर्ड कार्नवालिस), मराठों, हैदराबाद और टीपू सुल्तान के बीच हुई थी । इसने तीसरे आंग्ल-मैसूर युद्ध को समाप्त कर दिया, और मराठों, हैदराबाद के निज़ाम तथा अंग्रेजों ने टीपू सुल्तान के लगभग आधे इलाकों पर कब्जा कर लिया।

लाहौर की संधि (1846) ⧴ यह संधि गवर्नर जनरल हेनरी हार्डिंग और युवा महाराजा दलीप सिंह बहादुर के प्रतिनिधित्व में लाहौर दरबार के सदस्यों के बीच हुई थी। इस संधि से पहला आंग्ल-सिख युद्ध समाप्त हुआ।

अमृतसर की संधि (1846) ⧴ इस संधि के द्वारा ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने महाराजा गुलाब सिंह को कश्मीर बेचा। महाराजा गुलाब सिंह के वंश ने 1947 तक शासन किया, जब महाराजा हरि सिंह ने कश्मीर को भारत को सौंप दिया।

Current Gk, History Tags:, , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RSS
WhatsApp