GSblog

Current Affairs | करंट अफेयर्स | 25 January 2022

हाल ही में आम आदमी पार्टी के एक मंत्री ने केंद्र सरकार से राष्ट्रपति भवन के सामने 1857 के विद्रोह के शहीदों के लिए एक स्मारक बनाने का अनुरोध किया है।

Table of Contents

1857 के विद्रोह की विफलता के प्रमुख कारण-

  • यह विद्रोह अखिल भारतीय स्तर पर नहीं हुआ था। यह विद्रोह मुख्यतः दोआब क्षेत्र तक ही सीमित था।
  • बड़ी देशी रियासतें जैसे-हैदराबाद, मैसूर, त्रावणकोर और कश्मीर एवं यहाँ तक कि राजपूताना जैसी छोटी रियासतें भी विद्रोह में शामिल नहीं हुईं थी।
  • इस विद्रोह को कोई प्रभावी नेतृत्व नहीं मिल पाया। हालाँकि, नाना साहब, तांत्या टोपे और रानी लक्ष्मीबाई जैसे बहादुर नेता थे लेकिन वे आंदोलन को प्रभावी नेतृत्व नहीं दे सके।
  • सीमित संसाधन- विद्रोहियों के पास धन, हथियार एवं लोगों की कमी थी जबकि दूसरी ओर अंग्रेजों के पास पर्याप्त धन, हथियार एवं सैनिक थे।
  • अंग्रेजी शिक्षित मध्यम वर्ग, धनी व्यापारियों और बंगाल के जमीदारों ने विद्रोह को दबाने में अंग्रेजों की मदद की थी।

हाल ही में इंटरनेशनल काउंटर टेररिज्म कॉन्फ्रेंस 2022 का आयोजन ग्लोबल काउंटर टेररिज्म काउंसिल (GCTC) द्वारा किया गया।

  • ग्लोबल काउंटर टेररिज्म काउंसिल एक अंतर्राष्ट्रीय थिंक-टैंक काउंसिल है।
  • इसका मकसद दुनिया भर में आतंकवादी गतिविधियों को रोकना है।

हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से अखिल भारतीय स्तर पर एक भारतीय पर्यावरण सेवा (IES) की स्थापना करने को कहा है।

  • 2014 में पूर्व कैबिनेट सचिव टीएसआर सुब्रमण्यम की अध्यक्षता वाली एक समिति द्वारा भारतीय पर्यावरण सेवा (IES) के निर्माण की सिफारिश की गई थी।
  • इस समिति की स्थापना देश में पर्यावरण कानूनों की समीक्षा करने के लिए की गई थी।
  • इस समिति ने कहा था कि पर्यावरण संबंधी मुद्दों को हल करने के लिए विभिन्न मंत्रालयों/ संस्थाओं के बीच कोई प्रभावी समन्वय नहीं है।

गणतंत्र दिवस परेड में भाग लेने के लिए 12 राज्यों और 9 मंत्रालयों या सरकारी विभागों की झांकियों का चयन किया गया है।

  • गणतंत्र दिवस परेड के लिए झांकियों का चयन गृह मंत्रालय द्वारा किया जाता है।
  • गृह मंत्रालय एक एक्सपर्ट समिति बनाती हैं जिसमें कला, पेंटिंग, संस्कृति आदि विभिन्न क्षेत्रों के एक्सपर्ट शामिल होते हैं जो राज्यों द्वारा भेजी गई झाँकियों के प्रस्तावों को शॉर्टलिस्ट करते हैं।

बुर्किना फासो में सेना ने तख्तापलट कर दिया है।

  • सेना ने राष्ट्रपति रोच काबोरे (Roch Kabore) को सत्ता से हटा दिया है।
  • बुर्किना फासो पश्चिम अफ्रीका में स्थित एक लैंड लॉक्ड देश है।
  • यह फ्रांस का उपनिवेश था। 1960 में इसे आजादी मिली।

देश की विविधता को सेलिब्रेट करने के लिए हर साल 25 जनवरी को राष्ट्रीय पर्यटन दिवस मनाया जाता है।

  • इस वर्ष की थीम- रुरल एंड कम्युनिटी सेंट्रिक टूरिज़्म
  • आजादी के अमृत महोत्सव के तत्त्वावहन में पर्यटन मंत्रालय इस दिवस को मना रहा है।

हर साल 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है।

  • इसका मकसद देश के मतदाताओं को चुनावी प्रक्रिया में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करना है।
  • अधिक युवा मतदाताओं की चुनावी प्रक्रिया में भागीदारी को प्रोत्साहित करने के लिए 25 जनवरी 2011 को पहला राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया गया था।
  • इस वर्ष इसकी थीम है- ‘Making Elections Inclusive, Accessible and Participative’
Daily Current affairs Tags:, , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published.

RSS
WhatsApp